Two-Step verification kya hai? Ise enable kaise krte hai?

आज के समय में बहुत से सोशल मीडिया एप्स अपने आपको पहले से ज्यादा सिक्योर करने की दौड़ में लगे हुए है। नए नए फीचर्स लॉन्च किए जा रहे हैं अलग-अलग ऐप्स में ताकि वह अपने यूजर्स के डाटा को सिक्योर रखा जा सके।

दुनिया भर के एप्स ने 2016 और 2017 में two-step verification नाम का एक ऐसा फीचर लॉन्च किया है जो सारे ही एप्स को अपने पुराने वर्जन के बदौलत काफी सिक्योर बनाता है।

आज के इस आर्टिकल में हम जानेंगे की two-step verification क्या है? यह भी देखेंगे कि इसकी क्या जरूरत है? और इसे अपने फोन या कंप्यूटर से enable कैसे करते हैं?

Two-step verification ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स के द्वारा लाया गया एक ऐसा सिक्योरिटी फीचर है जिससे आपके अलावा किसी भी अन्य व्यक्ति के लिए आपके मोबाइल एप्लीकेशंस में जाना बहुत मुश्किल हो जाएगा।

अगर आपका two-step authorised मोबाइल ऐप कोई और व्यक्ति खोलना चाहता है जिसके पास आपका नंबर है तो वह आपका मोबाइल ऐप आपके नंबर से लॉगिन कर सकता है और OTP भी कहीं से चोरी कर सकता है। इस केस में आपके फोन की महत्वपूर्ण डाटा लीक होने की बहुत ज्यादा संभावना होती है।

हमारे phones में जो two-step verification का फीचर है सारे ही मोबाइल एप्लीकेशन के अंदर एक सिक्योरिटी पिन लगा देता है। अगर कभी भी आपके अलावा कोई और आपके फोन या उसके अंदर के एप्स को खोलना चाहेगा तो खोलते वक्त उसे बस OTP की ही नहीं बल्कि उस सिक्योरिटी पिन की भी जरूरत पड़ेगी। अगर सामने वाले को आपका सिक्योरिटी पिन नहीं पता है तो वह खाली OTP का इस्तेमाल करके आपका फोन नहीं खोल सकता।

इसी तरह से two-step verification काम करता है। आप आसानी से कुछ सिंपल स्टेप्स को फॉलो करके इसे अपने फोन में इनेबल ओर डिसएबल कर सकते हैं। 

 two-step verification क्यों जरूरी है?

हमने यह तो देख लिया कि Two-step verification क्या होता है लेकिन अब यह भी देख लेते हैं कि इसे अपने फोन में इनेबल कर ने की क्या जरूरत है और क्यों जरूरत है अपने फोन में।

Two-step verification एप्स को ज्यादा सिक्योर बनाता है।
Two-step verification का फीचर बिल्कुल फ्री है आपको किसी भी तरह की एक्स्ट्रा चार्ज देने की कोई आवश्यकता नहीं होगी।
Two-step verification को इनेबल करना बहुत आसान है।
पासवर्ड पता होने के बाद भी कोई आपके अकाउंट में लॉगइन नहीं कर सकता।
अनऑथराइज्ड एसएस से बचाता है
आप ऑनलाइन पेमेंट बिना किसी डर के कर सकते हैं।
आपने फोन की सिक्योरिटी को दोगुना कर देता है

Gmail में two-step verification कैसे इनेबल करें

अगर आप Gmail में अपना two-step verification का फीचर इनेबल करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए सारे स्टेप को अच्छे से फॉलो करें। इन स्टेप्स को फॉलो करने से आप 10 मिनट के अंदर अपने जीमेल में two-step verification को ऑन कर देंगे।

इसके के लिए या तो आप किसी कंप्यूटर में login करें या अपने मोबाइल के chrome में desktop mode को on करलें।

STEP 1 – आप सबसे पहले अपना जीमेल अकाउंट खोलें और Account खोलें।

Add mobile no to 2 step
  • Save

STEP 2 – जीमेल अकाउंट खोलने के बाद माय अकाउंट पर जाएं।

Gmail 2 step verification step 2
  • Save

STEP 3 – माय अकाउंट के अंदर आपको सेक् security में “Two-step verification” मिलेगा। उसमे off के ऑप्शन पर क्लिक करें।

two-step-verification-process
  • Save

STEP 4 – जैसे ही आप इस ऑप्शन पर क्लिक कर देंगे आपके सामने पेज खुल कर आ जाएगा। यहाँ आपको कुछ स्टेप्स मिलेंगे और “Get started” का ऑप्शन पर क्लिक करें।

gmail-2 step verification
  • Save

STEP 5 – इसके बाद अपना अपना मोबाइल नंबर डाले और OTP के लिए text मैसेज या कॉल का ऑप्शन चुनें जैसा आपको अच्छा लगे।

Add mobile no to 2 step verification
  • Save

तो इन आसान स्टेप्स का इस्तेमाल करके आप अपने जीमेल अकाउंट में टू स्टेप वेरिफिकेशन को ऑन कर सकते हैं। अपने Gmail अकाउंट में Two-step verification को ऑन करने से आपका जीमेल पहले से बहुत ही सिक्योर हो जाएगा। इससे आपके सारे बिजनेस और पर्सनल ईमेल्स भी अंडर सिक्योरिटी रहेंगे।

क्या सच में Two-step verification जरूरी है?

आज के समय में साइबर क्राइम एक बहुत ही बड़ा बिजनेस हो चुका है। 2018 से अनगिनत साइबर क्राइम के केसेस आ रहे हैं जिनमें से 8 बिलियन तो अकाउंट के  हैक होने के है।

ऐसे में अगर ऑनलाइन सिक्योरिटी Two-step verification जैसे फीचर्स लॉन्च करके बढ़ाई जा रही है तो आपको इसका इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। यह फीचर आपके मोबाइल एप्लीकेशंस पर एक और सिक्योरिटी की परत चढ़ा देता है। इस तरह से आपका फोन डबल सिक्योरिटी में रहेगा।

Read also:- Facebook पर Url unblock कैसे करें?

Conclusion : Two-Step Verification क्या है?

two step verification आज के समय में बहुत जरुरी हो गया है, अगर आप आपके फ़ोन में या फिर computer में कुछ महत्वपूण डाटा को स्टोर करके रखते है या फिर आप चाहते है कि किसी भी तरीके से आपका डाटा का कोई ओर इस्तेमाल न कर सके तो two step verification को जरीर इस्तेमाल करें।

इस पोस्ट में हमने आपको इस विषय से जुडी साड़ी जानकारियां दी है । अगर आपका इससे जुड़ा कोई सुझाव हो या फिर आपकी अपनी राय कमैंट्स में जरूर बताये।

FAQs : Two-step verification

1.1.क्या हम अपने व्हाट्सएप में भी two-step verification लगा सकते हैं?

Ans. फरवरी 2017 से ही व्हाट्सएप ने two-step verification का फीचर अपने ऐप में इंक्लूड किया है। इससे कोई भी इंसान आपका नंबर और ओटीपी होने के बाद भी आपका व्हाट्सएप नहीं अनलॉक कर पाएगा। उस व्यक्ति को पिंन की जरूरत होगी जो आपके द्वारा व्हाट्सएप में टू स्टेप वेरीफिकेशन के वक्त लगाई गई है।

2. क्या two-step verification और Two factor authentication एक ही चीजें है?

Ans. जी हाँ, Two-step verification और Two factor authentication दोनों ही एक चीज है। “Two-step verification” और “Two factor authentication” दोनों का ऑनलाइन सिक्योरिटी बढ़ाने में इस्तेमाल किया जाता है।

3. अपने जीमेल अकाउंट के two-step verification को ऑफ कैसे करें?

Ans. अगर आप अपने जीमेल अकाउंट के Two-step verification को किसी वजह से बंद करना चाहते हैं सबसे पहले अपने जीमेल अकाउंट को खोलें। जीमेल अकाउंट में आपको माय अकाउंट का ऑप्शन मिलेगा उस पर जाएं। माय अकाउंट में आपको साइन इन टू गूगल का ऑप्शन मिलेगा। उस पर क्लिक करें आपके सामने एक पेज खुलेगा। वहाँ पर राइट साइड में नीचे की तरफ Two-step verification लिखा होगा उस पर क्लिक करके उसे ऑफ कर दें।

4. two-step verification का इस्तेमाल किन ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर किया जा सकता है?

Ans. Two-step verification का इस्तेमाल आप किसी भी ऐप पर उसके सिक्योरिटी बढ़ाने के लिए कर सकते हैं। Two-step verification का इस्तेमाल ज्यादातर ऑनलाइन साइट्स, ईमेल आईडी, डेटिंग एप्स, गेमिंग अकाउंट, क्लाउड कंप्यूटिंग, इ-कॉमर्स साइट्स, फाइनैंशल सर्विसेज जैसे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म  पर किया जाता है।

5. अगर हम अपना फोन गुम कर दें तो हमें क्या करना चाहिए?

Ans. अगर आपसे आपका फोन गुम हो जाता है तो सबसे पहले फोन कैरियर को संपर्क करें और उससे सारे ऐप्स को लॉक करवाएं। हमेशा ही अपने फोन को password-protected रखें और अपने फोन सेटिंग के लॉक फीचर का इस्तेमाल करें। कोशिश करें कि आप अपना पासवर्ड मजबूत कैरेक्टर का रखें।

Two step verification kya hai
  • Save

1 thought on “Two-Step verification kya hai? Ise enable kaise krte hai?”

Leave a Comment

1 Share
Share via
Copy link