Seo क्या है? Seo kaise kare? पूरी जानकारी।

SEO क्या है? और यह blog के लिए क्यों जरूरी है? ये एक बहुत ही common सवाल है जो हर नए blogger के मन में चलता रहता है।

जो लोग blogging करना चाहते है वो भी इसके बारे में जानने के लिए हमेशा उत्सुक रहते है की Search engine optimization क्या होता है? और ये जानना जरूरी क्यों होता है।

आजकल technology और इंटरनेट के ज़माने में लगभग सभी लोग online आरहे है और आये भी क्यों न online एक ऐसा platform है जहाँ आप बहुत तेज़ी से अपने business को grow कर सकते है। और अगर आप online आना चाहते हो तो फिर आपके लिए Seo के बारे में जानना और भी जरूरी हो जाता है।

SEO blogging और online बिज़नस में इतना ज्यादा महत्व रखता है कि बड़ी बड़ी कंपनियां यहाँ तक की Amazon, Puma भी हर साल लाखों करोड़ों रूपये सिर्फ SEO में खर्च करते है।

अब आपके मन में ये सवाल और ज्यादा उठ रहा होगा की आखिर SEO होता क्या होता है? (What is seo in hindi?) और Seo कैसे काम करता है?

तो आसान भाषा में अगर कहे तो SEO एक ऐसी प्रकिया है जिसमे किसी ब्लॉग के आर्टिकल को किसी विशेष कीवर्ड के लिए ऐसा optimise किया जाता है जिससे वो सर्च करने पर search result पेज में सबसे ऊपर आये।

SEO एक बहुत बड़ा विषय है इसलिए इसे हम एक line में नहीं बता सकते की इसमें क्या क्या करना होता है। अगर आप जानना चाहते है तो आप इस article को ध्यान से अंत तक पढ़े। मैं दावे के साथ कह सकता हूँ अगर आपने इस आर्टिकल को पूरा लड़ लिया तो आज seo वके बारे में आप बहुत कुछ सिख जाओगे।

SEO या search engine optimization एक ऐसा तकनीक है जिससे आप किसी भी blogpost को सर्च इंजन जैसे की Google के सर्च results में सबसे ऊपर (टॉप) पर ला सकते है।

एक अच्छे SEO तकनीक से हम अपने आर्टिकल को Google के अलावा कुछ और भी पॉपुलर सर्च इंजन जैसे की Bing, Yahoo, में भी सबसे पहले number पर ला सकते है।

आपको जब भी किसी चीज़ के बारे में जानना होता है तो आप Google पर सर्च करते है और जो सबसे ऊपर दीखता है उसे ही पढ़ते है। लेकिन आपने कभी सोचा है वो article number 1 पर क्यों दीखता है।

दरअसल वो आर्टिकल आपको सबसे No.1 position पर इसलिये दीखता है क्यों की उस आर्टिकल पर बहुत अच्छे से SEO किया गया है। इसलिए Google उस article को बाकी सभी से ऊपर रखता है।

तो अगर आपका भी कोई ब्लॉग है और आने उसका अच्छे से SEO किया है तो आपका ब्लॉग भी Google सबसे ऊपर दिखायेगा।  जिससे लोग आपके ब्लॉग को visit करेंगे और पढ़ेंगे। इस प्रकार हम बोल सकते है कि जिस भी ब्लॉग का seo अच्छा होता है उस ब्लॉग में ट्रैफिक ज्यादा होता है।

(यहाँ मैंने ट्रेफिक इन्टरनेट का इस्तेमाल करने वाले लोगो को बोला है जो आपके ब्लॉग को visit करते है) और अगर ज्यादा लोग आपके ब्लॉग में आयेंगे तो आपकी कमाई भी ज्यादा ही होगी। तो इसलिए अगर आप blogging से पैसा कमाना चाहते है तो आपके लिए seo बहुत जरुरी हो जाता है।

SEO का फुल फॉर्म क्या है? Seo Meaning

SEO का पूरा नाम या फुल फॉर्म Search Engine Optimization है। जिसका मतलब है सर्च इंजन के अनुकूल बनाना।

Seo कैसे काम करता है? 

ऊपर हमने SEO के बारे में विस्तार से जाना की Seo क्या है? और मुझे आशा है आपको समझ आ गया होगा। तो चलिए अब जानते है कि Seo कैसे काम करता है।

अगर आपको सीधे शब्दों में बताये तो SEO पूरी तरह से google पर निर्भर करता है क्यों की Google दुनिया की सबसे बड़ी सर्च इंजन है और लगभग 90% लोग Google पर ही सर्च करते है।

इसका मतलब है अगर आपने google पर अपने ब्लॉग को रैंक करवा लिया तो आपके ब्लॉग में अधिकतम ट्रैफिक आएगा। और भारत में Google का ही सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है।

जब भी हम सर्च इंजन मतलब Google पर कुछ सर्च करते है तो Google का काम यह होता है कि वो हजारो लाखों results में से जो उस टॉपिक से सबसे संगत (relevant) होता है और जिसे पढ़कर ज्यादा लोग संतुष्ट होते है उसे टॉप पर दिखता है।

अब इसमें बहुत सारी चिसे होती है जैसे की आपने जो कीवर्ड सर्च किया वो कीवर्ड और उससे जुड़े कीवर्ड जिसे LSI (latent semantic indexing) कीवर्ड भी बोलते है वो  किस आर्टिकल के , description, Image thumbnail में है। 

इसके अलावा कितने लोग result पेज में आने वाले उस आर्टिकल को पढ़ कर संतुस्ट हुए है। ये सारी चीज़े Google हर पल चेक करता रहता है और उसी के आधार पर आर्टिकल्स को टॉप में रैंक करता है। Google हमेशा उसी आर्टिकल को No.1 में रैंक करता है जिसे पढ़कर उसके यूजर को पूरा जवाब मिल जाये।

Google के इसी नियम के अनुसार अपने आर्टिकल को टॉप में बनाये रखने के लिए हमें आर्टिकल्स को अपडेट करना होता है। ताकि Google का हम पर trust बना रहे और लोग जो हमारे ब्लॉग पर आते है वो भी आर्टिकल से संतुष्ट हो जाये। 

पर ये सुनने में जितना पेचीदा लगता है असल में उतना है नहीं। SEO में बहुत सारे रैंकिंग फैक्टर्स है करीब 200 से भी ज्यादा वो आप जैसे-जैसे काम करोगे सीखते चले जाओगे। इस आर्टिकल में मैं आपको बेसिक SEO बता दूँगा। जिसकी मदत से आप आसानी से सर्च इंजन में टॉप पर आ सकते हो।

बस आपको SEO करके थोड़ा धैर्य रखना होगा किसी भी आर्टिकल को रैंक होने में 3-4 महीने लगते है। अब सवाल ये आता है कि SEO क्यों जरूरी है? क्या SEO के बिना हम आर्टिकल्स को सर्च इंजन में रैंक नहीं करा सकते है। आइये जानते है।

Seo क्यों जरूरी है?

अगर आप Blogging करते हो और अगर आपका भी लक्ष्य Google ऐडसेंस से पैसा कमाने का है तो seo Blog के लिए बहुत जरुरी है। इसका एक बहुत बड़ा कारण ये है कि अभी 2021 में लगभग सभी लोग internet का इस्तेमाल कर रहे है

ज्यादातर लोगो को Blogging और online पैसा कमाने के बारे में पता चल चुका है इसलिए Blogging में कम्पटीशन बहुत बढ़ गया है। जिस वजह से Google बहुत ज्यादा सख्त हो गया है वो एकदम अच्छे Seo Optimised आर्टिकल्स को ही रैंक करता है।

तो अगर आपको भी Seo का ज्ञान नही है तो उसके बिना आप गूगल पर कभी रैंक नही कर सकते। और आप seo सीखना ही पड़ेगा। इसके अलावा अगर आप Seo नहीं करोगे तो आपका Blog कभी भी सर्च करने पर Google में नहीं आएगा। इसे और अच्छे से समझने के लिए एक उदहारण से समझते है।

मान लेते है आपका एक Blog/website है आपने उस पर बहुत अच्छे से आर्टिकल लिखे अब आप चाहते हो की जैसे है लोग कुछ आपके article से जुडी सवाल Google में सर्च करेंगे आपका ब्लॉग सबसे ऊपर दिखेगा। जैसे की अगर आप अभी सर्च करते हो “What is seo”  तो आपको कुछ ऐसा दिखेगा।

seo example
  • Save

जैसा की आप देख रहे है कि इसमें हो सबसे टॉप पर रैंक कर रहा है वो एक blog और वो इसलिए रैंक कर रहा है क्यों की इस पोस्ट का अच्छे से SEO किया गया हूं। और आप भी अगर चाहते हो की लोग ऐसा कुछ सर्च करे और आपका ब्लॉग सबसे ऊपर दिखे तो आपको अपने ब्लॉग का अच्छे से SEO करना पड़ेगा।

Also read- How to start a Blog in Hindi

Types Of SEO In Hindi

seo के मुख्य 3 भाग होते है। जिसमे On Page SEO, Off Page Seo और Technical Seo होता है।

तो आइये जानते है एक एक करके विस्तार से।

1. On page Seo क्या है?

यह seo का सबसे जरूरी और महत्वपूर्ण भाग है अगर आप On Page Seo नहीं करते हो तो आपका ब्लॉग काभी रैंक नही करेगा। जैसा की नाम से ही पता चल रहा है On Page Seo means एक पेज में किया जाना वाला काम मतलब आप अपने ब्लॉग के आर्टिकल में जो भी Seo का काम करते है। वो On Page Seo  होता हूं। जैसे की आप आर्टिकल लिखने से पहले कीवर्ड ढूंढते है और उस कीवर्ड को Titlee, meta descriptipn में डालते है।

On page seo करना सबसे आसान है और इसमें ज्यादा मेहनत भी नहीं लगता है। एक अच्छा on पेज seo करने के लिए आपको इन सभी बातों का हमेसा ध्यान रखना चाहिए।

On Page Seo kaise kare

अब मैं आपको On Page Seo  के कुछ ऐसे तकनीक के बारे में बताऊंगा जिसका इस्तेमाल करके आप अपने ब्लॉग का best seo कर सकते है।

Title और Meta Description

आपको अपने ब्लॉग पोस्ट के Title और Description को इस तरह लिखना है कि लोग उसको पढ़ने के बाद क्लिक करने से खुद को ना रोक पायें। CTR भी एक बहुत बड़ा रैंकिंग फैक्टर होता है। और Title को कभी भी 65 words से ज्यादा नही रखना है। 

Permalink 

permalink आपके पोस्ट का url होता है इसे आप जितना sweet एंड simple रखें उतना बेहतर होता है। permalink हमेसा अपने मुख्य विषय और सवाल पर बनायें जैसे की मेरा permaalink है “seo-kya-hai” 

Images और Videos

आप अपने पोस्ट में जितना भी हो सके Images, screenshots infographics और videos। ऐसा बिल्कुल भी न सोचें कि ज्यादा images से आपके ब्लॉग की speed काम हो जाएगा। बल्कि Google images और videos से भी रैंकिंग तय करता है।

Alt Tags 

हमेसा images में उससे releted ऑल्ट टैग्स का प्रयोग करें। आप फोकस कीवर्ड्स भी दाल सकते है।

Internal linking

Internal linking भी एक बहुत बड़ा रैंकिंग फैक्टर में से एक है। आप हमेसा अपने पोस्ट का एक दूसरे से internal linking करें। आप read more करके भी कर सकते है और इसके अलावा Anchor text में भी लिंक लगा सकते है अपने ब्लॉग के दूसरे पोस्ट का।

Content

और ये है आपके On Page Seo का king क्यों की आप चाहे जितना मर्जी SEO कर लें अगर आपका content अच्छा नहीं है तो आप अपने आर्टिकल को कभी भी No.1 पर रैंक नहीं करवा पाओगे। इसलिए हमेसा अच्छा और रिसर्च करके content लिखे। आपका content ऐसा होना चाहिए की reader को पढ़ने के बाद कही और न जाना पड़े वो आपके ब्लॉग पढ़कर संतुष्ट हो जाये।

Keywords

जब भी आप किसी term या सवाल के बारे में आर्टिकल लिखने है तो जो main टॉपिक होता है उसे कीवर्ड कहते है। जैसे की इस “Seo क्या है” ये एक कीवर्ड है। आपको अपने कीवर्ड्स को Title, Meta Description, Images Alt tags और H1, H2, H3 headings में जरूर डालना चाहिये। इससे गूगले को पता चलता है कि आपका content किस छिज़ के बारे में लिखा गया है।

On Page SEO ध्यान देने वाली बातें

  • अपने कीवर्ड को title और meta डिस्क्रिप्शन में डालें
  • आर्टिकल के पहले 150 हर अंतिम 150 शब्दों में कीवर्ड डालें।
  • आप अपने फोकस कीवर्ड को H1,H2 और H3 हैडिंग में डालें।
  • अपने आर्टिकल में Image या Videos जरूर डालें अगर संभव हो तो।
  • Images के ऑल्ट टैग में अपने कीवर्ड या LSI कीवर्ड डालें।
  • आर्टिकल को यूजर के सवालों के जवाब अच्छे से समझा क्र लिखें।
  • अपने दूसरे आर्टिकल्स को internal लिंकिंग करें।

बस अगर आप इन सभी बातों को ध्यान रख कर आप अपने ब्लॉग का एक अच्छा On Page Seo कर सकते है। On Page Seo में इतना काफी होता है।

2. Off Page Seo in Hindi

ये थोड़ा सा Advance Seo में आता है क्यों की ये सभी लोग नहीं करते और इसमें थोड़ा ज्यादा मेहनत भी करना पड़ता है। तो Off Page Seo में सारा काम आपके ब्लॉग के बहार करना होता है जैसे की Backlings बनाना, अपने ब्लॉग पर Social signals भेजना और अपने Blog का Domain Authority (DA) Page Authority (PA) बढ़ना ये सब Off page Seo होता है।

Off Page Seo कैसे करें

Off page seo On Page Seo से जल्दी रिजल्ट देता है। हलाकि इसमें थोड़े समय की खपत ज्यादा होता है इसलिए लोग इसे या तो पैसे देकर काम करवाते है। आगे मैं आपको Off Page Seo के कुछ secret तकनीक के बारे में बताने वाला हूँ।

Backlings बनाना

आपको अपने ब्लॉग के विषय के अनुसार Backlings बनाने चाहिए। जिससे Google को एक signal जायेगा की आपके ब्लॉग बहुत सारे similar blogs recommend कर रहे है। Backling बनाते समय ध्यान रखे की उस site का spam स्कोर 1% -3% तक ही हो। ज्यादा स्पैम स्कोर वाले site से backlings लेने पर negetive असर भी पड़ सकता है।

Guest Post करना

आप अपने टॉपिक के दूसरे ब्लॉग में Guest पोस्ट लिख सकते है और बदले में वहाँ से backling ले सकते है। इससे आपके ब्लॉग को एक लिंक भी मिलेगा और आपके ब्लॉग का वैल्यू भी बढ़ेगा गूगल की नज़र में।

Directory Submition

आपको Google बहोत सारे सर्च इंजन और हाई authority साइट्स में अपना ब्लॉग url submit करना चाहिए।

Social Profile

आपको अपने ब्लॉग का Social media पर account बनाना चाहिए और जब भी आप कोई नई पोस्ट लिखते हो आपको सारे social media में शेयर जरूर करना चाहिए।

Pinterest Pin Share

आपको आपने ब्लॉग के images को pinterest में share करना चाहिए। आप इसके लिए Pinterest business अकाउंट बना लें। ये ट्रैफिक लेने का भी एक अच्छा source है।

Blog Commenting

ये लोग अक्सर Backling बनाने के liye करते है। अगर आप अपने कैटेगरी के websites में कमेंट करते है तो इससे आपकी website की authority बढ़ती है।

OutReach

इसमें आपको किसी influencer या बड़े blogger को अनुरोध करना होता है की वो आपका article अपने दोस्तों के साथ share करें। इससे Google को एक अच्छा signal जाता है।

तो ये Off Page Seo के कुछ उदाहरण थे। वैसे तो और भी बहोत सारे है लेकिन इतना काफी हसि किसी भी ब्लॉग को रैंक करने में

3. Technical Seo in Hindi

ये काफी मुश्किल होता है और काफी रिस्की भी। क्यों की इसमें अगर आपसे कुछ भी गलत होता है तो इससे आपके ब्लॉग को नुक्सान भी हो सकता है। Technical Seo में आपको सारे technical चीज़ो को सही करना होता है। जैसे की Blog की loading speed, Database optimization, और भी बहुत सारी चीज़ चलिये जानते है विस्तार से Technical Seo के बारे में।

Technical seo कैसे करे

Technical seo में मैं आपको बेसिक चिसे ही बताऊंगा जो सबकोई आसानी से कर सकते है। वैसे तो जो coding करते है। उनके लिए ये बाएं हाथ का खेल है। लेकिन फिर भी Seo की दृष्टि से देखे तो बहुत सारी चीज़ है जिसका ध्यान रखना होता है।

Speed Optimization

आज के फ़ास्ट इन्टरनेट के युग में लोग इंतिजार करना पसंद नहीं करते है। और ऐसे में अगर आपका ब्लॉग खुलने में 5 सेकेंड

से भी ज्यादा समय लेता है तो आपका कोई व् seo काम नही आयेगा क्यों की सभी लोग आपके ब्लॉग में click करने के बाद समय पर न खुलने से दूसरे ब्लॉग में चले जायेंगे। और Google आपके ब्लॉग को नीचे कर देगा।

Sitemap बनाना और submit करना

Sitemap में एक तरह से आपके ब्लॉग का ब्यौरा होता है की आपके पूरे ब्लॉग में क्या क्या है आपने कितने पोस्ट पब्लिश किये कोन-कोन से ओगेस बनाये है। और Google bots उसी से आपके ब्लॉग को crowl करते है।

Robots.TXT File

यह आपके ब्लॉग के C-panel के फाइल मेनेजर में होता है। इसमें सभी तरह के निर्देश दिए होते है कि Google crawler आपके ब्लॉग में क्या क्या देख सकते है और क्या क्या चीज़ो को नहीं। ये काफी Technical है तो आप अगर Coding नहीं जानते है तो इसे ना छेड़ें। आप इसे online websites से Generate कर सकते है। या वर्डप्रेस में ये automatically बन जाता है SEO plugin से।

Broken Link Fix करना

आपके ब्लॉग में कई broken लिंक हो सकते है जिसमे कोई content नहीं होता हैबोर वो 404 error करता है। Seo की दृष्टि से ये सही नहीं है। आपको अपने ब्लॉग के सारे broken लिंक को हटा देना चाहिए।

404 Error को सही करें

अगर आपके ब्लॉग का कोई लिंक index हो चूका है और उसपर कोई भी कंटेंट नहीं है तो आपको उसे Google webmaster tool से हटा देना चाहिए।

Responsible Theme

आपको हमेसा अपने ब्लॉग पर Responsive और हल्का थीम इस्तेमाल करना है। इससे आपका ब्लॉग किसी भी तरह के device में अच्छे से खुलेगा। अगर आपका ब्लॉग मोबाइल में अच्छे से खुलता है और कंप्यूटर में नहीं तो ये Google आपको रैंक नहीं करेगा।

Local Seo क्या है?

Local Seo भी seo का ही एक प्रकार है लेकिन ये सभी blogs के लिए जरूरी नहीं है। Local Seo केवल उन blogs या businesses के लिए उपयोगी है जो किसी छेत्र विशेष के लिए बनाये गए हो।

Local Seo करने से लोग उस छेत्र में उसे आसानी से ढूंढ पते है। Local Seo करने से Google को यह पता चलता है कि आपका ब्लॉग और business उस एरिया के लिए है और वहाँ रहने वालों लोगो को ही प्राथमिकता देनी है।

जैसे की अगर आपका एक ब्लॉग है जिसमे आप Delhi के best hotels के बारे में लिखते हो। तो इसमें आपको लोकल seo के मदत से Google ये जान पता है कि ये Delhi के लिए ही special बनाया गया है। उसे मुंबई या कोल्कता के लोगो को नहीं दिखाना है या कम दिखाना है।

Local Seo कैसे काम करता है?

आपने अक्सर ध्यान दिया होगा आप जब भी nearest hotels या nearest restorent सर्च करते है तप गूगल आपके लोकेशन के सबसे नजदीक वाले होटल्स और restorents दुरी क्रमबद्ध के अनुसार दिखा देता है।

तो ऐसे में आपने तो ये नहीं लिखा की आप कहा पर ढूंढ़ रहे हो लेकिन फिर भी गूगल ने उस जगह के बारे में ही जानकारी दिया। तो ऐसा केवल Local search engine optimization की वजह से होता है।

Local seo कैसे करें?

अपने Blog या business का local seo करना बहुत ही आसान है। मैं आपको कुछ ऐसे तरीके बताऊंगा जिससे आप चुटकियों में कर लोगे।

Google My Business में लिस्ट करें

यह Google का ही प्लेटफार्म है यहाँ लोकल business और blogs को लिस्ट किया जाता है। आप भी अपने ब्लॉग को यहाँ लिस्ट करे को लोकेशन में अपने targeted एरिया select करें।

Local listing websites

लोकल लिस्टिंग websites ऐसी websites होती है जो किसी particular एरिया में वहाँ के छोटे business को लिस्ट करती है। आपको भी अपने छेत्र के website में अपने ब्लॉग या बिज़नस को लिस्ट करना चाहिए। इससे आपके ट्रैफिक और authority दोनों में फायदा होता है।

Social Profile location

आप जब भी social accounts बनाते है तो वह आपसे location के बारे में पूछा जाता है। आपको उसमे अपने targeted place का लोकेशन डालना चाहिए ताकि लोग आसानी से ढूंढ सके उन्हें कोई दिक्कत न हो।

Seo में कुछ महत्वपूर्ण तत्थ्य

जैसा की मैंने कहा था Seo एक बहुत बड़ी विषय है और आपको इसमें बहुत कुछ सीखना पड़ता है। और seo में kuch temrs है जिनका बहुत इस्तेमाल होता है। तो चलिए एक एक करके जानते है उनका क्या मतलब होता है।

1. Anchor Text:

जब हम backling बनाते है तो backling लेते समय जिस words से backling लेते है उसे anchor text बोलते है।

2. Alt Attribute Text (or Alt Text): 

Alt text आपके ब्लॉग में images को दर्शाता है कि वो किस बारे में है।

3. Authority: 

किसी भी ब्लॉग या website की authority बताती है वो वेबसाइट कितनी पुरानी है और उसके रैंक करने के संभावना कितने ज्यादा है।

4. Title Tag: 

Title tag आपके ब्लॉग पोस्ट में जो भी टाइटल होता है उसे बोला जाता है। आप जब भी अपना ब्लॉगपोस्ट कही share करते हो या Google SERP में आपका Title tag ही दीखता है।

Title-seo-kya-hai
  • Save

5. Meta Description:  

meta description या मेटा टैग आपके ब्लॉग पोस्ट का छोटा सा सारांश होता है जो Google दीखता है।

description-seo-kya-hai
  • Save

6. Keyword: 

जब भी हम कोई पोस्ट लिखते है तो एक topic के ऊपर ही लिखते है जिसे लोग Google में सर्च करके हमारे आर्टिकल को पढ़ेंगे उसे कीवर्ड कहते ह। जैसे कि “Seo क्या है” ये एक कीवर्ड है इस आर्टिकल का जिसे लोग गूगल में सर्च करेंगे।

7. Keyword Density:

कीवर्ड density का मतलब होता है आपने अपने कीवर्ड का कितनी बार प्रयोग किया है अपने ब्लॉग पर इससे आपके content की relavancy पता चलती है। एक ideal keyword density 1.0-2.0 तक होना चाहिए उससे कम भी हो तो कोई बात नहीं पर उससे ज्यादा नहीं होना चाहिए।

निष्कर्ष : Seo क्या है?

इस आर्टिकल में आपने पढ़ा seo क्या है? search engine optimization कैसे करते है? और यह क्यों जरूरी है? आशा है आप अच्छे से समझ गए होंगे और अपने ब्लॉग में भी मेरे बताये तरीको का इस्तेमाल करके अपने ब्लॉग को रैंक करेंगे। अगर आपका seo से जुड़ा कोई सुझाव या सवाल हो तो कमेंट में जरूर बताएं।

धन्यवाद,

seo-क्या-है
  • Save
4 Shares

4 thoughts on “Seo क्या है? Seo kaise kare? पूरी जानकारी।”

    • Agar aap hindi blog ki baat kr rhe hai to uske liye aapko jyada mehnat nahi krna hai.

      Bas aap low competitive keyword pe achha sa article likho On page seo ke saath jo maine bataya hai.

      Or bas wait kro kuch din aapka article 1 mahine me rank krne lagega..

      English blog me bhi same process hai bas aapko backlings bhi banane padte hai.

      And main iss par ek article jald hi published krne wala hu so blog ko ek do din me check jarur kare.

      Thankyou.

      Reply
  1. Bhai aapne bahut achhi jankari di hai. Mujhr aapke article padhkar seo ke baare me kafi nayi chiso ke baare me though clear hue hai.
    I request ki aap on page seo or off page seo par ek detailed article likho.

    Reply

Leave a Comment

4 Shares
Share via
Copy link