Refurbished Kya Hai? – Refurbished Mobiles खरीदते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

कभी भी ऑनलाइन शॉपिंग करते वक्त हमें Refurbished इलेक्ट्रॉनिक सामान तो काफी देखने को मिलते हैं लेकिन हमें इसका अर्थ नहीं पता होता।

इसी कारण से कई लोग कम दाम होने के बावजूद भी यहां से सामान नहीं खरीदते। आज के इस आर्टिकल में हम Refurbished चीजों के बारे में ही बात करेंगे और Refurbished का मतलब तथा यहां पर शॉपिंग करते वक्त किन सावधानियों को बरतना चाहिए वह भी देखेंगे।

Refurbished Kya Hai?

ऑनलाइन शॉपिंग करते वक्त हमारे सामने कई समस्याएं आती हैं जैसे कि सामान की अदला बदली हो जाना या फिर डिफेक्टिव सामान मिलना। ऐसे समय में उस सामान को हम अपने पास तो रख नही सकते क्योंकि उस पर हमने काफी पैसे खर्च किए होते हैं इसी वजह से खरीदार उस सामान को वापस कर देता है।

इस तरह के सामान की फिर से रिपेयरिंग की जाती है। उसके डिफेक्ट को ढूंढ कर उसे सही किया जाता है और Refurbished की कैटेगरी में डाल दिया जाता है। यही मुख्य वजह है कि Refurbished Electronic सामान हमें काफी कम दामों में मिल जाता है।

5 Best Online Passive Income Sources

Refurbished Mobiles Warranty

Refurbished Mobiles में भी हमें Warranty Period की सुविधा दी जाती है लेकिन यहां पर आपको एक सावधानी बरतनी होगी। जब भी आप किसी Refurbished Mobiles की Warranty Period चेक कर रहे हो तो यह जरूर देख लें कि वह वारंटी पीरियड Seller द्वारा दी जा रही है या कंपनी द्वारा।

उन्हीं Refurbished Mobiles को चुने जहां पर आप को Brand या Company के तरफ से Warranty दी जा रही हो। ज्यादातर Refurbished Mobiles पर 6 महीने से लेकर 1 साल की वारंटी उपलब्ध कराई जाती है।

Refurbished Mobiles खरीदते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए

Refurbished Mobiles खरीदने से पहले निचे लिखी गई बातों का ध्यान रखें :-

Compare Prices : जब भी आप किसी Refurbished Mobile को खरीदने जाए तो यह जरूर पता कर ले कि उस मोबाइल की मार्केट वैल्यू कितनी है। अगर नए मोबाइल और रिफर्बिश्ड मोबाइल के दाम में ज्यादा अंतर देखने को ना मिले तो नया मोबाइल ही लें लेकिन अगर दोनों के दाम में काफी अंतर दिख रहा हो तो आपके लिए रिफर्बिश्ड मोबाइल एक ज्यादा बेहतर ऑप्शन है।

Warranty Period : जब भी आपको Refurbished Mobile Phone खरीदना हो तो इसकी वारंटी पीरियड देख ले। हमेशा ऐसे ही Refurbished Phones खरीदे जिसमें आपको कम से कम 6 महीने या साल भर की वारंटी मिले। यह भी Seller से पता कर ले कि फोन खराब होने पर ब्रांड उसे ठीक करेगा या फिर कोई थर्ड पार्टी लोकल इंजीनियर। कई बार रिफर्बिश्ड मोबाइल खराब होने पर Seller उसे अपने ही लोकल इंजीनियर से ठीक करवा लेता है। ऐसी चीजों पर हम ज्यादा विश्वास नहीं कर सकते।

Branded Product : किसी भी प्रोडक्ट को खरीदते समय यह जरूर चेक करें कि वह किस Brand का है। हमेशा अच्छे Brand के समान ही ले क्योंकि वह ज्यादा समय तक टिकते हैं। Refurbished Phones खरीदते वक्त भी जांच लें कि वह किस ब्रांड का है। जितने अच्छे ब्रांड का आप Refurbished Phone लेंगे आपको उस फोन पर उतनी ही ज्यादा सुविधाएं मिलेंगे।

Accessories : आपको यह जानकर हैरानी होगी कि Refurbished Phones में भी हमें Accessories मिलती हैं। Refurbished Phone लेने से पहले यह चेक कर ले की इसमें आपको कंपनी की तरफ से Accessories मिलेंगे या किसी thired party की तरफ से मिलेंगी। अगर फोन के साथ Seller आपको Local Accessories देता है तो वह फोन आपको नहीं लेना चाहिए इससे बेहतर यही होगा कि आप उसी ब्रांड का नया फोन ले ले।

Refurbished Grading in Hindi

यहां पर हम आपको ग्रेड A से लेकर ग्रेड E तक के रिफर्बिश्ड फोन के बारे में जानकारी देंगे:

Grade A : Grade A के अंदर जितने भी Refurbished Phones आते हैं वह बिल्कुल ही नए जैसे होते हैं। Grade A के फोन में आपको जरा सी भी स्क्रैच देखने को नहीं मिलेगी। यह दिखने में आपको बिल्कुल नए जैसे लगेंगे और इनका सिस्टम भी बिल्कुल नए फोन की तरह तेजी से काम करेगा।

Grade B : Grade B के अंदर उन फोन को रखा जाता है जिसके सिस्टम में कोई डिफेक्ट तो ना हो लेकिन इसकी स्क्रीन पर कुछ स्क्रैच या कटाव के निशान हो। अगर किसी रिफर्बिश्ड फोन पर एक या एक से अधिक स्क्रैच तथा कटाव के निशान पाए जाते हैं तो उन्हें Grade B में रख दिया जाता है।

Grade C : Grade C में उन फोन को रखा जाता है जिन के बटन या पार्ट्स अच्छे से काम ना कर रहे हो। अगर फोन के अंदर एक या एक से अधिक बटन सही से काम नहीं कर रहा है तो उसे Grade C में रख दिया जाता है। Grade C के अंतर्गत आने वाले फोन में आपको स्क्रैच तथा कटाव के काफी निशान भी मिलेंगे। इसका सिस्टम भी अच्छे से काम नहीं करता या फिर काफी स्लो हो गया होता है।

Grade D : Grade D के अंतर्गत वह Refurbished Mobiles आते हैं जिनकी हालत सबसे खराब होती है। इन Refurbished Mobiles को देखकर यह पता चल जाएगा कि इन्हें बहुत दिन तक यूज़ करके भेजा गया है। आपको इनके स्क्रीन या सिस्टम में भी काफी डिफेक्ट देखने को मिलेंगे। यह भी हो सकता है कि फोन पूरी तरह से काम न करें। Grade D के अंतर्गत वही रिफर्बिश्ड प्रोडक्ट आते हैं जिनका अब आगे इस्तेमाल करना काफी मुश्किल होता है।

Grade E : Grade E के अंतर्गत वह फोन आते हैं जिनमें दोनों SIM ना काम कर रही हो या फिर लॉक खराब हो गया हो या तो फोन डेड हो चुका हो। यह ग्रेडिंग की आखिरी कैटेगरी है इसी वजह से इसके अंतर्गत वही फोन आते हैं जिनको फिर से इस्तेमाल कर पाना काफी मुश्किल है या जिनका बनना ही काफी मुश्किल है।

Refurbished Mobiles के फायदे

Refurbished Mobiles के कई फायदे हैं जिनमें से कुछ मुख्य फायदे हमने नीचे दिए हैं:

Refurbished Mobiles आपको काफी कम दाम में मिल जाएगी। इन मोबाइल की कीमत काफी कम रखी जाती है मार्केट में आई नई मोबाइल्स की तुलना में।

यहां पर आपको लेटेस्ट मोबाइल काफी कम दाम पर मिल सकती है।

काफी बार Refurbished Mobiles में हमें ऐसे मोबाइल भी मिल जाते हैं जिनको बस तीन या चार बार ही इस्तेमाल में लाया गया हो। ऐसे में यह फोन आपको बिल्कुल नए जैसे मिलते हैं।

Refurbished Mobiles के ग्रेड ए तथा बी की केटेगरी में बिल्कुल नए जैसा सॉफ्टवेयर ही होता है।

यहां पर आपको 5000 के अंदर 10000 तक का मॉडल मिल सकता है।

Refurbished Mobiles के नुकसान

  1. कई बार Refurbished Mobiles में हमें लोकल Accessories भी दे दी जाती है। लोकल Accessories की मुख्य समस्या यह है कि उनमें कोई वारंटी पीरियड नहीं होता और अगर मिलता भी है तो बहुत कम समय के लिए मिलता है।
  2. कुछ Refurbished Mobiles की Warranty Period 6 से कम महीनों की दी जाती है।
Two-Step Verification Kya Hai?

Conclusion

इस आर्टिकल में हमारी कोशिश रहीं की हम आपको Refurbished Mobiles से जुड़ी सारी जानकारी दे सके। हमने Refurbished Mobile पर तथा उनके फायदे और नुकसान पर चर्चा भी की। थोड़ी सी सावधानी बरती जाए तो आप अपने लिए Refurbished Mobiles के रूप में एक नया मोबाइल ले सकते हैं वह भी बहुत कम दाम में। आशा है इस आर्टिकल से आपको काफी मदद मिली होगी और आप अपने लिए एक सही Refurbished Mobile चुनेंगे।

Hey there, I am Deepak kumar, a Digital Entrepreneur from India. On the mission to help youngsters to build their career in Blogging. So I’m here to help you build and grow a successful money-making blog.

2 thoughts on “Refurbished Kya Hai? – Refurbished Mobiles खरीदते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?”

Leave a Comment

error: Content is protected !!